May 21, 2024

टेक्निकल एसईओ क्या है? What is Technical SEO in Hindi?

मस्कार दोस्तों, आज इस लेख के माध्यम से हम आपको टेक्निकल SEO के बारे में बताने जा रहे हैं। टेक्निकल एसईओ क्या है? (What is Technical SEO in Hindi) टेक्निकल एसईओ हमारी वेबसाइट के लिए क्यों महत्वपूर्ण है। इसमें कौन से बिंदु शामिल हैं? इन सभी बिंदुओं को इस लेख के माध्यम से विस्तार से बतायेगे।अगर आप टेक्निकल SEO के बारे में सीखना चाहते हैं। तो हमारे इस लेख को पूरा अंत तक जरुर पढ़ें।

आज के समय में जब बात SEO की होती है। तो सभी लोग Off Page SEO और On Page SEO की करते हे। पर टेक्निकल SEO के बारे में बहुत कम लोगों को पता होता है। जब बात अपनी वेबसाइट को गूगल में रैंक कराने की होती है। तो उसमें टेक्निकल एसडीओ का सबसे अहम रोल होता है। जब तक हमारी वेबसाइट या ब्लॉग टेक्निकली सही नहीं होगा। तब तक हम उसको गूगल में रैंक आसानी से नहीं करा सकते। इसलिए टेक्निकल एसडीओ भी वेबसाइट को रैंक कराने के लिए बहुत जरूरी है।

यह भी पढ़े:- What is Local SEO in Hindi

लेकिन लोग आज के समय में अपनी वेबसाइट को गूगल पर रैंक कराने के लिए। ऑफ पेज और ऑन पेज को सभी सही कर लेते हैं, पर टेक्निकल SEO पर कोई ज्यादा ध्यान नहीं देता है। इसलिए वे अपनी वेबसाइट या ब्लॉक को गूगल में जल्दी से रैंक नहीं करा पाते हैं। आपकी वेबसाइट का ऑन पेज या ऑफ पेज SEO कितना भी सही हो जब तक आप अपनी वेबसाइट के टेक्निकल प्रॉब्लम को सॉल्व नहीं करेंगेतब तक अपनी वेबसाइट को गूगल में रैंक नहीं करा सकते। इसलिए लोगों को टेक्निकल एसीईओ के बारे में जानना भी बहुत जरूरी है।

टेक्निकल एसईओ क्या है? What is Technical SEO in Hindi?

अपनी वेबसाइट को गूगल में Top Position पर Rank कराने के लिए। हम अपनी वेबसाइट में गूगल की गाइडलाइन के अनुसार जो कुछ भी अपडेट करते हैं। यह सब अपडेट टेक्निकल एसपीओ के अंतर्गत आती है। इस प्रोसेस को हम Technical SEO कहते हैं।

टेक्निकल एसपीओ में कंटेंट और बैकलिंक का कोई अहम रोल नहीं होता है। इसमें हम अपनी वेबसाइट की लोडिंग स्पीड इम्प्रूव करते हैं, तथा अपनी वेबसाइट को मोबाइल फ्रेंडली बनाते हैं, और बहुत सारे पॉइंट्स हैं जिसको हम टेक्निकल SEO के अंदर इंप्रूव करते हैं।

What is Technical SEO in Hindi

अपनी वेबसाइट का Technical SEO करते समय आपको इन प्वाइंटों का ध्यान रखना चाहिए, हम जो नीचे विस्तार में बताएंगे। जब भी आप अपनी वेबसाइट का Technical SEO सही करें तो हमारे इन पॉइंट्स को विस्तार में अवश्य करें पढ़ें। आप लोगों को यहां से Technical SEO के बारे में संपूर्ण जानकारी मिल जाएगी।

Key Points of Technical SEO

  • Domain Name
  • Install SSL(HTTPS) Certificate
  • Create XML Sitemap
  • Optimize Robots.txt File
  • AMP (Accelerated Mobile Pages)
  • Website Layout
  • loading speed
  • SEO-Friendly URL Structure
  • Mobile Friendly
  • Should Be Crawlable
  • Use Schema Markup
  • Fix Broken Link
  • Reduce Spam Score
  • Add Canonical Tag
  • Check Google Search Console

1. Domain Name क्या है

सबसे पहले डोमेन नेम ही आप का फर्स्ट इंप्रेशन होता है। वेबसाइट का Technical SEO तभी से शुरू हो जाता है। जब आप अपने डोमेन को रजिस्टर कराते हैं। आपके डोमेन का नाम सिंपल और छोटा होना चाहिए। आपके डोमेन का नाम आपकी बिजनेस के अनुसार होना चाहिए। आप किस क्षेत्र में अपना बिजनेस कर रहे हैं। उसी फील्ड से रिलेटेड डोमेन का नाम होना चाहिए।

2. Install SSL(HTTPS) Certificate होना चाहिए

जब हम अपनी वेबसाइट स्टार्ट करते हैं। तब हमारी वेबसाइट HTTP पर होती है। HTTP पर हमारी वेबसाइट सिक्योर नहीं होती हे। अपनी वेबसाइट को सिक्योर करने के लिए हमें SSL install करना पड़ता है। SSL इनस्टॉल करने के बाद हमारी वेबसाइट HTTPS सिक्योर हो जाती हे।

3.  Create XML Sitemap

हम अपनी वेबसाइट के लिए साइटमैप इसलिए क्रिएट करते हैं। क्योंकि हम अपनी वेबसाइट पर जितने भी पोस्ट पब्लिश करते हैं। साइटमैप पर आपकी वेबसाइट के सभी पेज Link मौजूद होते हैं। जिससे हमें गूगल पर अपने वेब पेज को Index तथा Crawl कराने में आसानी होती है। जब Google के Boats हमारी साइटमैप पर आते हैं, तो Google Boats को साइटमैप पर हमारी वेबसाइट के सभी पेज Link एक साथ मिल जाते हे।तो Google Boats हमारे वेब पेजों को आसानी से Index तथा Crawl कर देता है। इसलिए हमें अपनी वेबसाइट के लिए साइटमैप क्रिएट करना बहुत जरूरी है।

4. Optimize Robots.txt File

हमें अपनी वेबसाइट के लिए Robot.txt Create करना जरूरी है. क्योकि Google के Boats जब भी वेबसाइट को क्रॉल करने आते हैं। सबसे पहले Google के Boats वेबसाइट में Robots.txt File को Check करते हैं और देखते हैं कि उन्हें हमारी वेबसाइट के किस-किस पेज को Crawl करना है और किसको नहीं। जब हम अपने वेबसाइट पर किसी भी पेज को गूगल में क्रॉल नहीं कराना चाहते हैं। तो हम Robot.txt फाइल के माध्यम से उस पेज को ब्लॉक कर सकते हैं।

5. AMP (Accelerated Mobile Pages)

AMP technique को अपनी website में इसलिए यूज़ करना जरुरी हे। जिसके मथ्यम से मोबाइल पर हमारी वेबसाइट के पेज जल्दी से load होकर ओपन हो जाते हे। इससे हमारी वेबसाइट के Technical SEO पर positive impact पड़ता है। अगर आप अपनी वेबसाइट को WordPress पर चला रहे हो। तो आप अपनी वेबसाइट में AMP का Plugin Install कर सकते हो।

6. Website Layout

अपनी वेबसाइट का Layout सिंपल और सरल रहना चाहिए. और ज्यादा कलरफ़ुल images भी अपनी वेबसाइट पर यूज़ नहीं करनी चाहिए। अगर आप अपनी वेबसाइट को सिंपल और सरल रखते हैं तो उससे यूजर Experience सही रहता है

7. Loading Speed

अगर आपकी वेबसाइट की लोडिंग स्पीड फास्ट होनी चाहिए। अगर आपकी वेबसाइट की लोडिंग स्पीड Slow है, तो उससे यूजर पर भी नेगेटिव इम्पेक्ट पड़ता है। अगर आपकी वेबसाइट फास्ट और आसानी से खुल जाती है। तो यूजर भी आपकी वेबसाइट को पसंद करते हैं। इसलिए अपनी वेबसाइट की स्पीड फास्ट रखनी चाहिए। वेबसाइट की loading Speed को Fast रखने के लिए कुछ महत्वपूर्ण बिंदु:

  • Light weight और Simple theme का इस्तेमाल करें
  • जरूरी plugins का ही इस्तेमाल करें
  • Images का size कम से कम रखें
  • Best speed के लिए क्लाउड होस्टिंग का इस्तेमाल करे

8. SEO-Friendly URL Structure

अपनी वेबसाइट के URL Structure को सिंपल सरल और short रखना चाहिए, हमें अपने पेज के यूआरएल में फोकस कीवर्ड को जरूर यूज़ करना चाहिए, अपने फोकस कीबोर्ड को पेज के URL में यूज करने से हमें उस पेज को गूगल पर Rank कराने में सहायता होती है। ऐसा करने से हम आसानी से गूगल पर अपने पेज को रैंक करा सकते हैं।

9. Mobile Friendly

अगर आप अपनी वेबसाइट को गूगल पर रैंक कराना चाहते हैं। तो आपकी वेबसाइट Mobile Friendly होनी चाहिए। अगर आपकी Website Mobile Friendly नहीं होगी, तो वह Mobile और Tablet पर सही से ओपन नहीं होगी। इससे यूजर पर भी नेगेटिव इंपैक्ट पड़ता है, और इससे वेबसाइट की रैंकिंग पर भी नेगेटिव इम्पैक्ट पड़ता है। इसलिए हमें अपनी वेबसाइट को Mobile Friendly बनाना जरूरी है।

10. Should Be Crawlable

आप अपनी वेबसाइट पर कोई पोस्ट पब्लिश करते हो। तो आपकी पोस्ट जब तक गूगल पर Crawl नहीं होगी। तब तक आपकी पोस्ट गूगल पर रैंक नहीं करेगी। अगर आपकी वेबसाइट में कोई क्रोलिंग की Error आरही हे। तो हमें इस Error को जल्दी से जल्दी फिक्स करना चाहिए।

11. Use Schema Markup

Schema Markup का प्रयोग हम अपनी वेबसाइट को गूगल पर टॉप पर रैंक कराने के लिए और Google पर FAQ, Features snippet, और Review सो करने के लिए करते हे। Schema Markup की Script add करने से वेबसाइट का CTR (Click through rate) बढ़ता हे।

12.  Fix the Broken Link

कभी कभी हमारी वेबसाइट में अनेक कारणों से Brocken Link बन जाती है। इस कारण से हमारे वेब पेजे में 404 का error आने लगता है। इससे हमारी वेबसाइट पर SEO के पॉइंटऑफ़ व्यू से नेगेटिव असर पड़ता हे। अगर हमारी वेबसाइट पर ब्रोकन लिंक हे तो इन्हे फिक्स करना जरुरी हे।

इस पोस्ट के बारे में | About This post

टेक्निकल एसईओ क्या है? What is Technical SEO in Hindi? Key Points of Technical SEO | तकनीकी एसईओ के प्रमुख बिंदु। Domain Name क्या है। Install SSL(HTTPS) Certificate होना चाहिए। Create XML Sitemap, Optimize Robots.txt File, AMP (Accelerated Mobile Pages), Website Layout, Loading Speed, SEO-Friendly URL Structure, Mobile Friendly, Should Be Crawlable, Use Schema Markup, Fix the Broken Link।

यह भी पढ़ें:-  

Conclusion (निष्कर्ष)

दोस्तों आशा करता हूं, हमारा यह आर्टिकल पढ़कर आप लोगों को Technical SEO के बारे में संपूर्ण जानकारी मिल गई होगी। अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पढ़कर सही इंफॉर्मेशन मिली हो तो हमारे आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें। ऐसे ही इनफॉर्मेटिव आर्टिकल्स पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट Technical skills up पर हमारे साथ जुड़े रहे। हमारा आर्टिकल पढ़ने के लिए आप लोगों का बहुत-बहुत धन्यवाद!

FAQs

1. टेक्निकल एसईओ क्या है?
  • “Technical SEO” में हम अपनी वेबसाइट के टेक्निकल तरीके से इंटरनल फैक्टर्स को Improve करके वेबसाइट की सर्च इंजन में रैंकिंग बढ़ाते है। इसमें वेबसाइट के AMP, SSL, Canonical, Crawling, Loading Speed, Layout, और Sitemap जैसे महत्वपूर्ण पॉइंट्स शामिल होते है इसको हम तकनीकी एसईओ भी कहते है।
2. AMP Format क्या है?
  • AMP theme install करने के बाद आपको अपनी website का जो look mobile पर मिलता है उसी को AMP format कहते हैं| यह look traditional mobile pages से काफी अलग होता है और बहुत जल्दी load होता है|
3. Website कितनी जल्दी load होनी चाहिए?
  • आपकी वेबसाइट की स्पीड कई फैक्टर्स पर depend करती है जैसे website design, website data, server location, Hosting और बहुत से पर आपकी वेबसाइट को खुलने में 2 सेकण्ड्स से ज्यादा समय नहीं लगना चाहिए नहीं तो आपकी वेबसाइट स्पीड slow मानी जाएगी|
4. Technical SEO कितने प्रकार के होते हैं?
  • तकनीकी एसईओ में SSL, Canonical, Crawling, Loading Speed, Layout, Sitemap, Broken Link और AMP Valid आदि तकनीकी रूप से ठीक होने वाले SEO फैक्टर्स आते है।
5. SEO स्पेशलिस्ट की सैलरी कितनी होती है?
  • आज देश के अंदर SEO स्पेशलिस्ट का औसत सैलेरी वेतन ₹3 लाख रुपए से 10 लाख रुपए के बीच में होता है।

Ravendra Singh

नमस्कार दोस्तों, मैं Ravendra Singh, Technical Skills Up का founder हूँ। में एक ब्लॉगर और डिजिटल क्रिएटर हूँ। इस ब्लॉग के माध्यम से आप Digital Marketing और Blogging से जुडी जानकारियां ले सकते हैं। अगर आपको हमारे आर्टिकल्स से सही जानकारी मिलती हैं। तो हमारे आर्टिकल्स को दोस्तों के साथ शेयर भी कर सकते हैं। आप हमें social media प्लैटफॉर्म्स पर follow कर सकते हैं।

View all posts by Ravendra Singh →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *